बाल मजदूरी करवाने वालों पर होगी कठोर करवाई।

जिलाधिकारी, दरभंगा डॉ. त्यागराजन एस.एम. द्वारा इस बात पर चिंता व्यक्त किया गया कि होटलों/ढ़ाबों/दुकानों आदि पर बच्चों से मजदूरी कराई जाती है जबकि बाल श्रम आपराधिक कृत्य है। इस पर प्रभावी तरीके से रोक लगाने की जरूरत है। लोग गरीबी के कारण अपने बच्चों को होटल/ढ़ाबे में काम करने के लिए भेज देते हैं जबकि उन्हें पढ़ने के लिए स्कूलों में भेजी जानी चाहिए थी। गरीब परिवारों के सहायतार्थ सरकार की अनेक कल्याणकारी योजनाएँ चल रही है, लेकिन जानकारी नहीं होने एवं जागरूकता की कमी के चलते वे छोटे लाभ के लिए अपने बच्चों का भविष्य खराब कर रहे हैं। वे कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित बाल श्रम उन्मूलन तथा बिहार श्रम निषेध एवं विनियमन हेतु गठित जिला टास्क फोर्स की बैठक में बोल रहे थे।


   जिलाधिकारी ने श्रम अधीक्षक, दरभंगा को बाल श्रम पर रोक लगाने हेतु लगातार धड़-पकड़ अभियान चलाने को कहा है। श्रम अधीक्षक, दरभंगा द्वारा बताया गया कि होटल/ढ़ाबा/दुकान आदि पर छापामारी करने हेतु धाबादल गठित किया गया है। यह दल होटल बगैरह में छापाकारी करके बाल श्रमिकों को मुक्त करायेगा। जिलाधिकारी ने बच्चों को छुड़ाकर उसका समुचित पुनर्वास कराने को कहा है। उन्होंने कहा कि मुक्त बाल श्रमिकों को चिन्ह्ति कर स्कूलों में दाखिला कराया जाये। जिलाधिकारी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी, दरभंगा को बाल श्रम उन्मूलन अभियान में सकारात्मक सहयोग प्रदान करने हेतु निदेश दिया है।
   जिलाधिकारी ने कहा कि अधिक से अधिक बाल मजदूरों को मुक्त कराया जाये एवं उसे शिक्षण संस्थानों में दाखिला कराई जाये। बैठक में उपस्थित नगर निगम, दरभंगा के मेयर श्रीमति बैजंयती खेड़िया ने बाल श्रम उन्मूलन अभियान में पूरा-पूरा सहयोग करने का भरोसा दिलाया। श्रम अधीक्षक को बाल श्रम उन्मूलन हेतु कार्य एजेन्डा तैयार कर वार्ड पार्षदों की बैठक में भाग लेने हेतु सुझाव दिया गया है।
   उप विकास आयुक्त ने बताया कि छोटे ढ़ाबा चलाने वाले लोगों द्वारा ज्यादा बच्चों का शोषण किया जाता है उनके विरूद्ध कड़ाई से पेश आने की जरूरतें है। एस.डी.ओ. दरभंगा ने चाइल्ड लाइन/महिला हेल्पलाइन को पूरा सक्रिय होकर बाल श्रम उन्मूलन अभियान चलाने पर जोर दिया गया। जिलाधिकारी ने बाल श्रम उन्मूलन अभियान लगातार चलाने को कहा है। इसके साथ ही लोगों को जागरूक करने की बात भी कही गई है ताकि लोग सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें।
   जिलाधिकारी ने बताया कि विभाग द्वारा एक *हेल्पलाईन नम्बर - 1098* जारी किया गया है। इस नंबर पर बाल मजदूरों के बारे में जानकारी साझा की जा सकती है। जिलाधिकारी ने श्रम अधीक्षक को एक कार्य योजना बनाकर कार्य करने एवं अगली बैठक में कार्रवाई प्रतिवेदन के साथ भाग लेने हेतु निदेश दिया है।
   जिलाधिकारी ने जिला शिक्षा पदाधिकारी को बाल श्रम अपराध के संबद्ध मामले में पूर्व में निलंबित दो शिक्षकों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही चलाने हेतु निदेश दिया है।
  इस बैठक में डी.एम. डॉ. त्यागराजन एस.एम., डी.डी.सी. डॉ. कारी प्रसाद महतो, मेयर श्रीमति बैजंयती खेड़िया, डी.ई.ओ. श्री महेश प्रसाद, डी.पी.आर.ओ. श्री सुशील कुमार शर्मा, एस.डी.ओ. श्री राकेश कुमार गुप्ता, श्रम अधीक्षक, चाइल्ड लाइन के प्रतिनिधि आदि सम्मिलित हुए।

Post a Comment

आपके प्यार और स्नेह के लिए धन्यवाद mithilatak के साथ बने रहे |

favourite category

...
test section describtion

Whatsapp Button works on Mobile Device only