पुलिस ने करवायी शादी, पुलिसवाले बने बराती , लोगो ने दिया आशीर्वाद !

अगर बात अनोखी चीजों की आये और अपना बिहार ना आये, आप मानो या ना मानो अपना बिहार भारत ही नहीं संपूर्ण विश्व में अव्वल स्थान लाएगा हां जी बात ऐसी ही एक अनोखी चीजों की है जो कि आज अपने मिथिला के मधुबनी जिले के बेनीपट्टी थाने में हुई हुआ कुछ ऐसा कि बेनीपट्टी थाने में पुलिस वालों ने एक लड़का लड़की की शादी करवाई जिसमें पुलिस वाले बाराती भी बने पुलिस वालों ने ही बारातियों का स्वागत भी किया और पुलिस वालों ने ही वर वधू को आशीर्वाद भी दिया राह चलती महिलाएं मंगल गीत गाई आसपास के लोग और सामान खरीदने आए औरतें इस अनोखी विवाह में हिस्सा लिया और वर-वधु को आशीर्वाद दिया



चलिए खबर को निचोड़ कर जानते हैं

मन में शादी का ख़्याल लेकर दो प्रेमी युगल थाना पहुंचे मन में विचार और साथ में विश्वास लेकर पहुचे दोनों ने बताया कि दोनों बालिग हैं और पिछले 3 साल से इनका प्रेम प्रसंग चल रहा है लेकिन अमित के घर वाले शादी के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं थे दोनों ने काफी इंतजार किया था शायद अमित के घरवाले मान जाए लेकिन ऐसा हुआ नहीं तो रूबी ने थाने में पुलिस से गुहार लगाई वैसे आपने एक कहावत सुनी ही होगी कि जब लड़का लड़की राजी तो क्या करेगा काजी बिल्कुल ऐसा ही हुआ थाना प्रभारी ने उन्हें विश्वास दिलाया कि वो उनकी शादी करवाएंगे आखिरकार उन जोड़ों की कोशिश रंग लाई पुलिस वालों ने उनके घर वालों से बात किया और बात करने के बाद उन्हें तैयार किया और थाने में हुई शादी में उन्हें काफी मान मनोबल के बाद लाया थाना इन लोगों को इसलिए पहुंचना पड़ा क्योंकि इनके परिवार वाले तैयार नहीं थे इसलिए पुलिस को इन्हें सुरक्षा देनी पड़ी कि कोई इनके शादी में विघ्न बाधा ना डालें !

थाना परिसर में ही एक हनुमान जी का मंदिर है मंदिर में पंडित जी के मंत्र उच्चारण और बाजार करने आई महिलाओं के मंगल गीत आसपास के स्थानीय लोगों के बीच यह शादी संपन्न हुई इस विवाह में यहां मौजूद सभी लोग इस विवाह के साक्षी बने, इस शादी को देखने के लिए रास्ते से गुजरने वाला हर राहगीर थोड़ी देर रूक जाता था। इस दौरान स्थानीय लोगों ने तालियां बजाकर दुल्हा-दुल्हन का स्वागत किया।

शादी में बाराती के रूप में उपस्थित पुलिस वाले और स्थानीय लोगों ने आशीर्वाद दिया आपको बता दें कि शादी के लिए हां अमित नायक और दुल्हन रूबी कुमार को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा जो भी हो इनदोनो की मेहनत रंग लाई शादी के बाद अमित और रूबी दोनों खुश थे अनोखी ही सही सात जन्मों के लिए वह दोनों एक साथ एकदूसरे के लिए बंध गए थे !

Post a Comment

आपके प्यार और स्नेह के लिए धन्यवाद mithilatak के साथ बने रहे |

favourite category

...
test section describtion

Whatsapp Button works on Mobile Device only