अभिनंदन ने बहादुरी से सारे सबूत मिटाये, कल अपने बतन लौट आएगा अभिनंदन, बहादुरी से किया पाकिस्तानी सेना का सामना ।

दिल्ली न्यूज़; - वीर अभिनंदन ने जब जाना कि वे पाकिस्तान के सीमा में है,तो उन्होंने सारे नक़्शे, कागजात और सबूत मिटा दिये ।


क्या था मामला

आपको बताते चलें कि पुलवामा हमले के बाद हमारे वीर वायु सेना ने पाकिस्तान पर हमला कर उनके पांच आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया उन्होंने 1000 किलो बम आतंकी ठिकानों पर बरसाए जिस वजह से बौखलाया पाकिस्तान कल भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश की और उनके एक प्लेन f-16 हमारे सीमा में जैसे ही घुसा हमारे मुस्तैदी से तैनात वायुसेना ने उसे खदेड़ दिया इस खदेड़ने के क्रम में हमारा एक प्लेन क्रैश हो गया जिस वजह से हमारे एक वीर सेनानी अभिनंदन पाकिस्तान के सीमा में चला गया जिसे पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया ।

अभिनंदन ने दिखाई बहादुरी

अभिनंदन ने जब जाना कि वह पाकिस्तान की सीमा में है तो उन्होंने अपनी सूझबूझ से उनके पास जो भी कागजात थे जो भी नक्शे थे उन्होंने उसे झील में डुबाया और बहुत ही बहादुर बहादुरी से उन्होंने पाकिस्तानी सेना को जवाब दिया उन्होंने उनके   सवाल में साफ-साफ बता दिया वह कुछ भी नहीं बताएंगे उन्होंने सिर्फ अपना नाम बताया उन्होंने यह तक नहीं बताया कि वह कौन सा विमान उड़ा रहे थे उन्होंने यह तक नहीं बताया कि उनका घर भारत में कहां है ऐसी चीजों से पता चलता है भारत के वीरों का शौर्य उनका पराक्रम कितना है।

पाकिस्तान की तरफ से रिलीज एक वीडियो में भी हम सभी ने देखा कि पाकिस्तानी सेना को अभिनंदन किस मजबूती और हौसलों के साथ जवाब दे रहे थे उन्हें वहां के नागरिकों ने जरूर चोट पहुंचाया लेकिन उनके पास बंदूक होते हुए भी उन्होंने किसी पर गोलियां नहीं चलाई वह वहां के लोगों से निवेदन करते रहे हवा फायरिंग की लेकिन वहां के लोगों ने उन्हें कुछ चोट पहुंचाई पाकिस्तानी पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया लेकिन जिनेवा समझौते की वजह से और अंतरराष्ट्रीय दबाव की वजह से और भारत की वजह से उन्होंने अभिनंदन का बखूबी ख्याल रखा, जिनेवा कन्वेंशन पाकिस्तान में उनका कवच बना. इसके तहत दुश्मन देश न तो उन्हें तंग कर सकता और न ही न डरा और धमका सकता. अपमानित नहीं कर सकता और न ही मेडिकल सुविधा से वंचित रख सकता और हम सभी आशा करते हैं कि कल अभिनंदन अपने बतन सही तरीके से आ जाये ।

कल बतन वापस आएंगे अभिनंदन

अंतराष्ट्रीय और भारतीय दवाव के कारण पाकिस्तान सरकार मजबुर हो गया हमारे शौर्य पुरूष अभिनदंन को वापस करने के लिए , आज के पाकिस्तान के संसद में प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि वो शाँति चाहते हैं वो अमन चाहते है इसलिए वो पहल कर रहे हैं लेकिन चौतरफा दवाब के बजह से इमरान खान ये करने को मजबूर हो गए , कल बाघा बॉर्डर से अभिनंदन का अभिनंदन किया जाएगा ।

Post a Comment

आपके प्यार और स्नेह के लिए धन्यवाद mithilatak के साथ बने रहे |

favourite category

...
test section describtion

Whatsapp Button works on Mobile Device only